ERP Full Form In Hindi – ERP क्या है?

ERP Full Form In Hindi :- आज बिजनेस या उद्योग चलाना , आसान नहीं होता | इसे करने के लिए एक से ज्यादा लोगो की आवश्यकता होती है | सभी लोगो को अलग अलग कार्य सौंपा जाता है , जैसे की इन्वेंटरी, Purchase, एकाउंट्स, सेल्स,  इत्यादि | सभी छोटे या बड़े बिजनेस में ये सारे कार्य करने ही होते है और इस लिए बिजनेस को आसानी से मैनेज करने ले लिए एक साफ्टवेयर डेवेलोप किया गया है | इस साफ्टवेयर का नाम ” ERP ” है जिसे ” Enterprise Resource planning ” या ” उद्यम संसाधन योजना ” भी कहा जाता है |

ERP Full Form In Hindi Or ERP क्या है?

ERP Full Form In Hindi Or Enterprise Resource Planning एक इंटीग्रेटेड साफ्टवेयर है , जहाँ सभी बिजनेसमैन अपना सभी डाटा स्टोर और साथ ही मैनेज भी कर सकते है | सबसे अच्छी बात यह है , की सारा डिपार्टमैंट एक ही डाटा पे काम कर सकता है| जिससे गलती होने की सम्भावना कम हो जाती है |

ERP एक बहुत ही प्रचलित साफ्टवेयर है , जिसे सभी तरह के बिजनेस में इस्तेमाल किया जाता है | यदि आपका बिजनेस बड़ा है और बहुत से लोग इसमें काम करते है , तो ERP द्वारा सभी स्वीकृत कर्मचारी इसे एक ही टाइम पे एक्सेस कर सकते है | इस से सभी को अपडेटेड इनफार्मेशन मिलेगी और उसके आधार पे आगे काम किया जा सकता है |

ERP में कितने मॉड्यूल होते है ?

जैसी की आपको बताया , ये एक बिजनेस को पूरी तरह से मैनेज कर सकता है और इस में सारे ही ज़रुरी मॉड्यूल है जिसका इस्तेमाल बिजनेस में होता है | ERP के मॉड्यूल कुछ इस प्रकार है:

  • Inventory: ये एक सूचि है , जो आपको सप्लाई और स्टॉक के बारे में जानकारी देता है |
  • Financial Accounting: किसी भी बिजनेस के लिए finance एक बहुत ही महत्वपूर्ण कार्य है , जो आपको आपके बिजनेस का profit या loss बताता है | इस मॉड्यूल की मदद से आप अपने बिजनेस का फाइनेंस देख सकते है और उसके आधार पे फैसले ले सकते है | ERP की मदद से error होने की सम्भावना काम हो जाती है और आपको accurate financial रिपोर्ट मिल सकता है|
  • Human Resources: इसकी मदद से आप अपने बिजनेस में स्टाफ की नयी भर्ती, पे-रोल और उनका परीक्षण आसानी से कर सकते है |
  • Supply Chain Management: आपका प्रोडेक्ट सही समय और सही मात्रा में डिलीवरी हो जाये इसकी जिम्मेदारी इस मॉड्यूल की है | यह एक पूरा नेटवर्क है जिसमें मैन्युफैक्चरर ( Manufacturer ), वोएलसलेर ( Whole Seller ), रिटेलर ( Retailer ) ,डिस्ट्रीब्यूटर ( Distributor ) की सारी इनफार्मेशन ERP द्वारा मैनेज की जा सकती है |
  • Purchasing: सभी बिजनेस में आप कही न कही से माल लेते है , जिसे Purchasing कहते है | इसकी पुरी जानकारी जैसे की कहा से माल लिया, कितना लिए, प्राइस ये सारी जानकारी ERP के इस मॉड्यूल द्वारा आसानी से मैनेज की जा सकती है |
  • Customer Relationship Management: किसी भी बिजनेस में Customer महत्वपूर्ण होते है और उनके साथ अच्छे रिलेशन बनाना बहुत ही ज़रुरी है | आज बहुत ही टफ कम्पटीशन है , जिसमें आपके कस्टमर के सतह के रिलेशन आपको आगे ले जा सकते है | इस मॉड्यूल में आपको अपने कस्टमर की पसंद, नापसंद, फीडबैक, Complain के बारे में इनफार्मेशन मिलती है , जो बहुत ही मददरूप हैं |


ERP के Features

  • ERP साफ्टवेयर डेटाबेस पर वर्क करता है , जिसमें सारी जानकारी स्टोर होती है | ERP एक शेयर्ड डेटाबेस ( Shared Data Base ) पर काम करता है , जिससे बिजनेस से जुड़े सभी कार्य एक ही डाटा पर किये जा सकते है | जैसे आप को अकॉउंटिंग, पर्चासिंग, सेल्स ये अभी की रिपोर्ट एक ही डाटा के आधार पे मिल सकती है | इसकी मदद से आपके बिजनेस में error की सम्भावना काम हो जाती है और आपको बिजनेस का क्लियर पिक्चर मिल सकती है |
  • यह एक इंटीग्रेटेड साफ्टवेयर है , जिसकी मदद से बिजनेस प्रोसेसिंग और मैनेजमेंट दोनों ही आसान हो जाता है | किसी भी बिजनेस के लिए जो भी बेसिक मॉड्यूल की आवश्यकता है , वो इस साफ्टवेयर में उपलब्ध है |
  • इसमें शेयर्ड डेटाबेस है , जिसकी मदद से विभिन्न डिपार्टमेंट के कर्मचारी इसे साथ में इस्तेमाल कर सकते है | आपको आपके बिजनेस के सारे डेपार्टमेंट की जानकारी भी एक जगह से मिल सकती है और इससे आपको मैनेज करना आसान हो जायेगा |
  • यह साफ्टवेयर सभी डेपार्टमेंट को colloborate करता है और उसे मैनेज करना आसान कर देता है | इसको इम्प्लीमेंट करने में समय लग सकता है और साथ आपको बिजनेस structure में बदलाव भी करना पड़ सकता है | लेकिन एक बार सक्सेस्स्फुल्ली इम्प्लीमेंट होने के बाद आपको बिजनेस मैनेज करना बहुत आसान हो जाता है |
  • यह साफ्टवेयर किसी भी तरह के बिजनेस में काम कर सकता है | यदि आपका छोटा Business है , तो आप उसके हिसाब से module ले सकते है और यदि बड़ा है , तो सॉफ्टवेयर के सारे मॉड्यूल का इस्तेमाल कर सकते है |

ERP के फायदे ( ERP Full Form In Hindi ) 

  • बिजनेस के लिए डाटा बहुत इम्पोर्टेन्ट है , इसलिए ERP द्वारा डाटा स्टोर करना और उसे सभी डिपार्टमेंट के हिसाब से मैनेज करना आसान हो जाता है |
  • पेपरवर्क में बहुत समय लगता है और साथ ही गलती के चांस भी बढ़ जाते है | ERP की मदद से पेपर वर्क कम किया जा सकता है , जिससे आप अपना समय बचा सकते है और ये आपको accurate जानकारी देगा |
  • ERP में सभी डिपार्टमेंट का डाटा एक ही स्थान पे होता है , जिससे सभी रिपोर्ट उस डाटा के आधार पे बन सकती है | इससे आपको डाटा मैनेज करना आसान हो जाता है |
  • यदि आपको कोई पुराना डाटा चाहिए , तो बहुत ही मुश्किल हो जाता है | लेकिन ERP की मदद से आप आसानी से accurate Old डाटा प्राप्त कर सकते है | आप इसमें कई वर्षो का डाटा स्टोर कर सकते है |
  • यह एक क्लाउड Best साफ्टवेयर है , जिसकी वजह से आप इसे कही भी एक्सेस कर सकते है | इसमें डाटा loss होने की सम्भावना बहुत ही काम है और इसलिए इसे इम्प्लीमेंट करना फलस्वरूप होगा |
  • डाटा की सिक्योरिटी बहुत ही आवश्यक है , इसलिए ERP को एक्सेस करने की अनुमति सभी को नहीं होती | बिजनेस में अपने एम्प्लोयी को उनको आवश्यकता के अनुसार ERP का एक्सेस दे सकते है |


ERP बिजनेस के लिए बहुत उपयोगी और महत्वपूर्ण साफ्टवेयर है , जिसकी मदद से आप अपना बिजनेस आसानी से मैनेज कर सकते है | इसका मूल्यांकन आप के बिजनेस के ज़रुरत के हिसाब से तय होता है |

किसी भी बिजनेस में इसको एक बार इम्प्लीमेंट करने के बाद मैनेज करना बहुत आसान है | आप अपने मोबाइल में रिपोर्ट और डैशबोर्ड देख सकते है | ERP की सारी जानकारी होने से आपको decision लेने में आसानी होती है |


आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी ERP Full Form In Hindi , ERP Full Form In Accounting , कैसी लगी ? ऊपर दी गई जानकारी आपको अच्छी लगी , तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें |

यदि आपको इससे संबंधित किसी भी प्रकार का कोई भी सवाल है , तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं , हम उसका जल्दी से जल्दी रिप्लाई करेंगे |

Leave a Comment