जेबीटी कोर्स क्या है – JBT Full Form In Hindi

JBT Full Form In Hindi:- आजकल लोगो में टीचिंग का काफी क्रेज देखा जा रहा हैं, जिसका कारण एक ये भी हैं कि वर्तमान सरकार अध्यापक क्षेत्र में बहुत वैकेंसी तेज़ी से निकल रही हैं। इसीलिए ज्यादा से ज्यादा इच्छुक व्यक्ति उस सभी कोर्स में एडमिशन ले रहे हैं, जिन्हें करने से उनका सिलेक्शन अध्यापक के रूप में हो सकता हैं। जैसे B.ed, PGT, TGT, JBT, आदि।

दोस्तों, क्या आपको पता हैं, कि JBT Kya Hai ? JBT Full Form In Hindi ? इसको करने से क्या फ़ायदा होता हैं ? ऐसे ही इससे जुड़े बहुत से सवाल हैं, जिनके बारे में आपको पता होना बहुत जरुरी हैं। यदि आपको इन सभी सवालों के जवाब नहीं पता हैं, तो हमारा आज का आर्टिकल आपके लिए बहुत लाभदायक होने वाला हैं। इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

JBT Full Form In Hindi

JBT की फुल फॉर्म हैं – ” जूनियर बेसिक ट्रेनिंग ” | ” जूनियर बेसिक ट्रेनिंग ” – यह एक तरह का शिक्षक कोर्स होता हैं, जिसे अगर कोई व्यक्ति करता हैं, तो वो किसी भी सरकारी या Private स्कूल में प्राइमरी लेवल का टीचर बन सकता हैं। यह एक तरह का डिप्लोमा कोर्स भी बोला जाता हैं। इस कोर्स करने के लिए एक योग्यता Set की गयी हैं, जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे। यह कोर्स कम से कम 2 साल का होता हैं। जूनियर बेसिक ट्रेनिंग कोर्स D.El.Ed के बराबर ही माना जाता हैं। इस कोर्स को शहर के लोग करना ज्यादा पसंद करते हैं।

Read Also:- 

JBT योग्यता | Qualification For JBT:

यदि कोई व्यक्ति JBT कोर्स में एडमिशन लेने का इच्छुक होता हैं, तो उसे निम्नलिखित योग्यता को पूरा करना चाहिए।

  • इच्छुक व्यक्ति को इंटरमीडिएट पास होना जरुरी हैं।
  • 10+2 में इच्छुक व्यक्ति को कम से कम 50% मार्क्स के साथ पास होना जरुरी हैं।
  • अगर किसी व्यक्ति ने ग्रेजुएट किया है, तो उसको कम से कम 45% मार्क्स के साथ ग्रेजुएशन पास करना जरुरी हैं।
  • इच्छुक व्यक्ति की उम्र 17 से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

जेबीटी कोर्स में एडमिशन कैसे लेते हैं?

जेबीटी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए इच्छुक व्यक्ति को कोई विशेष परीक्षा नहीं देनी होती हैं। हर राज्य में ऐसे कॉलेज और विश्वविद्यालय हैं, जहाँ पर आसानी से जेबीटी पाठ्यक्रम कोर्स में एडमिशन मिल जाता हैं। बहुत से कॉलेज ऐसे हैं, जो योग्यता के आधार पर इच्छुक व्यक्ति को एडमिशन देते हैं, लेकिन कुछ कॉलेज या विश्वविद्यालय ऐसे भी हैं, जो जेबीटी कोर्स में एडमिशन देने के लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करते हैं।

फिर उस परीक्षा के मेरिट के आधार पर एडमिशन देते हैं। साल 2011 के बाद 2 साल का जेबीटी कोर्स पूरा करने के बाद इच्छुक व्यक्ति को CTET परीक्षा को भी पास करना बेहद जरुरी हैं।

JBT कोर्स कौन-कौन कर सकता हैं?

यहाँ हम आपको बताएंगे, कि कौन-कौन व्यक्ति को JBT कोर्स में एडमिशन में लेना चाहिए। तो चलिए, शुरू करते हैं।

  • वह व्यक्ति जो अपना करियर अध्यापक के रूप में बनाना चाहता हैं।
  • जिन व्यक्तियों में सहायक स्वभाव, आत्मविश्वास और बोलने का अच्छा अनुभव हैं, वो भी इस कोर्स को चुन सकते हैं।
  • JBT कोर्स उन लोगो के डिजाईन किया गया हैं, जिन्हें शिक्षण कौशल और किसी विशेष विषय के बारे में जानकारी इकट्ठी करने की दिलचस्पी होती हैं।
  • कुछ लोग प्रारंभिक स्तर पर पढ़ाने का शौक रखते हैं। अगर आप भी इन्ही लोगो में से एक हैं, तो आपको भी JBT कोर्स करना चाहिए, क्यूंकि ये आपके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता हैं।
  • यह कोर्स उन व्यक्तियों को करना चाहिए, जो पहली कक्षा से लेकर पांचवी कक्षा तक पढ़ाना चाहते हैं।

Read Also :- 


जेबीटी कोर्स की फीस कितनी होती हैं?

किसी भी कोर्स करने के लिए उसकी फीस एक महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। हर राज्य के कॉलेज में जेबीटी कोर्स की फीस अलग-अलग हैं।

  • अगर हम दक्षिण भारत की बात करे, तो वहाँ के Private कॉलेज में रुपए 25,000/- से लेकर रुपए 30,000/- प्रतिवर्ष फीस हैं।
  • जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया ही हैं, कि ये कोर्स पुरे 2 वर्ष का हैं | तो 2 साल के हिसाब से पुरे कोर्स की फीस 50,000/- से लेकर 60,000 तक बैठती हैं।
  • इसके अलावा अगर आप हॉस्टल में रहते हैं, तो हॉस्टल की फीस अलग से लगती हैं, जो कि 3,000 से लेकर 4,000 प्रति महिना होती हैं।
  • आपकी जानकारी के लिए बता दे, कि जेबीटी कोर्स की फीस सरकारी कॉलेज में बहुत कम होती हैं और प्राइवेट कॉलेज में ज्यादा होती हैं।

जूनियर बेसिक ट्रेनिंग (जेबीटी) के लिए कुछ मुख्य कॉलेज

  • अमीर चंद कक्कड़ कॉलेज , कुरुक्षेत्र
  • यदुवंशी कॉलेज ऑफ एजुकेशन , महेंद्रगढ़
  • सिंघानिया विश्वविद्यालय , पचौरी बारी
  • वैद शंकर लाल मेमोरियल कॉलेज ऑफ एजुकेशन , सोलन

जूनियर बेसिक ट्रेनिंग (जेबीटी) कोर्स पूरा करना के बाद कहाँ-कहाँ रोजगार प्राप्त कर सकते हैं?

  • कोचिंग सेंटर
  • सरकारी कार्यालय
  • खेल केंद्र
  • लाइब्रेरी
  • होम ट्यूटरिंग
  • कॉलेजों और विश्वविद्यालयों
  • बच्चों की देखभाल केंद्र

जूनियर बेसिक ट्रेनिंग (JBT) कोर्स करने के बाद किस प्रकार की नौकरी कर सकते हैं?

  • परामर्शदाता
  • सहायक अध्यापक
  • समाज सेवक
  • कोच
  • अध्यापक
  • पुस्तकालय अध्यक्ष
  • जनसंपर्क विशेषज्ञ
  • बच्चे की देखभाल करने वाला कार्यकर्ता
  • शिक्षा प्रशासक

Read Also:- 


जूनियर बेसिक ट्रेनिंग (जेबीटी) सिलेबस | JBT Full Form In Hindi

हमने नीचे जूनियर बेसिक ट्रेनिंग (JBT) के लिए पूरा सिलेबस दिया हैं।

सी.नो. विषय
नींव पाठ्यक्रम
1इमर्जिंग इंडियन में शिक्षा
2बच्चे और सीखने की प्रक्रिया (शैक्षिक मनोविज्ञान) को समझना
3प्राथमिक स्तर पर शैक्षिक प्रबंधन
4शैक्षिक प्रौद्योगिकी
5शांति, मूल्य, पर्यावरण और मानव अधिकारों के लिए शिक्षा
6हिंदी का अध्यापन
7सामाजिक अध्ययन का अध्यापन
8पर्यावरण विज्ञान का शिक्षण
9गणित का शिक्षण
10अंग्रेजी का अध्यापन
11जनसंख्या शिक्षा
12स्वास्थ्य और शारीरिक शिक्षा योग
13व्यावसायिक कार्य (पीईटी / योग)
14कला शिक्षा और कार्य अनुभव (सिद्धांत और व्यावहारिक)
शैक्षणिक पाठ्यक्रम
1मातृभाषा का शिक्षण (हिंदी)
2अंग्रेजी भाषा का शिक्षण
3गणित का शिक्षण
4पर्यावरण अध्ययन (विज्ञान) का शिक्षण
5पर्यावरण अध्ययन का अध्ययन (सामाजिक अध्ययन)
6शिक्षण कार्य का अनुभव
7कला शिक्षा का शिक्षण
8स्वास्थ्य और शारीरिक शिक्षा का शिक्षण
स्कूल अनुभव कार्यक्रम
व्यावहारिक कार्य
1सह पाठ्यक्रम गतिविधियां
2समुदाय काम
3क्रीडा और खेल

निष्कर्ष/ Conclusion:

हम उम्मीद करते हैं, कि आपको JBT Full Form in Hindi के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। हमारे और आर्टिकल पढने के लिए हमारे Links पर क्लिक करे।

Leave a Comment