PDF Full Form In Hindi – पीडीएफ क्या होता है

PDF Full Form In Hindi :- आज हम आपको पीडीएफ का फुल फॉर्म के साथ-साथ वे सभी बातें बताने जा रहे हैं, जो कि पीडीएफ से संबंधित है। जैसे कि :- What Is PDF In Hindi , पीडीएफ कैसे ओपन करे , What Is the Full Form Of PDF In Hindi , PDF Kaise Banaye , पीडीएफ का इतिहास , PDF file क्यो इस्तेमाल किया जाता है ? इन सब के साथ ही किसी एक ऐप को हम explain भी करेंगे , जिस से आप पीडीएफ बना सकते हैं |

अगर आप भी इन सभी बातों को जानना चाहते हैं , तो अंत तक इस पोस्ट पर बने रहें।


PDF Full Form In Hindi 

PDF का फुलफार्म Portable Document Format होता है।

PDF क्या होता है?

PDF शब्द कंप्यूटर फिल्ड से रिलेटेड है। यह एक तरह का फाइल फॉर्मेट है। PDF किसी भी Word File, Excel Sheet, किसी Image को Digital Image में चेंज कर Save कर लेता है। जिससे इसमें किसी भी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता है।

 उदाहरण :- आपने MS word में एक File बनाई , जिसे आपने Arial Font में लिखा था। अब इसे आप PDF file मे कन्वर्ट कर अपने दोस्त को सेंड करते है , तो यह उसी फॉर्मेट में Open होगा।

यदि आप पीडीएफ फाइल में कन्वर्ट नहीं किए हैं और आपने यही फाइल आप अपने दोस्त को सेंड कर दी है , तो आपका दोस्त जिस फ़ॉन्ट को यूज कर रहा होगा , उसे आपके द्वारा भेजी गई फाइल उसी फॉर्मेट में दिखेगी। हो सकता है , कि फ़ॉन्ट के साथ – साथ Text Style, Font Size , Elinement ,भी चेंज हो जाए।

History Of PDF | PDF का इतिहास

Pdf को सन 1990 के दशक में Adobe के द्वारा बनाया गया था और सन 1993 में Adobe ने पीडीऍफ़ का पहला Version 1.0 रिलीज़ किया।

सन 1993 से 1 जुलाई 2008 से पहले तक पीडीऍफ़ पर Adobe का मालिकाना हक़ था , लेकिन 1 जुलाई 2008 से पीडीऍफ़ Royalty free हो गया। जिसका मतलब यह है , कि अब PDF को आम जनता भी इस्तेमाल कर सकती है।

इंटरनेट से कोई भी डॉक्यूमेंट को डाउनलोड करते है , तो वह By Default pdf file format में ही डाउनलोड होता है।

How To Open PDF File – PDF फाइल को कैसे ओपन करें?

यदि आप मोबाइल में pdf file open कर रहे हैं , तो आपको किसी भी software की जरूरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि आजकल सभी मोबाइल में पहले से ही कंपनी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर चुकी होती है।

यदि फिर भी आपको पीडीऍफ़ की फाइल को खोलने में कोई दिक्कत आ रही हो , तो आप Play Store से Adobe Reader ऐप को डाउनलोड कर सकते है। पर यदि आप कंप्यूटर या लैपटॉप में Pdf फाइल को open करना चाहते हैं , तो आपको अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में Adobe Acrobat reader डाउनलोड करना होगा।

या फिर आप किसी भी वेब ब्राउज़र ( Google Chrome, Mozilla Firefox, UC browser, Opera mini ) से अपने pdf फाइल को ओपन कर सकते हैं।

PDF File Open Kaise Kare | वेब ब्राउज़र से किसी भी pdf फाइल को ओपन करें :-

  1. Select PDF File.
  2. Right, click on PDF file। 
  3. ” Open with ” का ऑप्शन पर कर्सर रखे।
  4. अब आपको जिस भी ब्राउज़र से अपनी pdf file open करनी है , आप उस पर क्लिक करें।
  5. Click करते ही आपकी पीडीएफ फाइल ओपन हो जाएगी।

Pdf Format को क्यों इस्तेमाल करें? इसके फायदे क्या क्या है?

अभी तक हमें PDF Full Form In Hindi और पीडीऍफ़ के बारे में जानकारी मिल गई है। अब बात करते है , कि pdf format को क्यों इस्तेमाल करना चाहिए। इससे हमें क्या फायदे हो सकते है।  वैसे तो PDF file format को यूज करने से हमे बहुत से फ़ायदे हैं , जिनके बारे में हम आगे बता रहे हैं |

1:- सुरक्षित माध्यम :-  पीडीएफ के द्वारा हम किसी भी डाटा को आसानी से बड़े ही सुरक्षित तरीके से एक दूसरे के साथ शेयर कर सकते हैं।

मान लीजिए अगर आपने word में कोई डॉक्यूमेंट बनाया है और उसे किसी के साथ शेयर किया है , तो उस डॉक्यूमेंट को कोई भी edit कर सकता है , उसमे छेड़खानी भी कर सकता है। लेकिन अगर आपने पीडीऍफ़ फाइल में कोई डॉक्यूमेंट बनाया है , तो इसे edit करना मुश्किल काम है।

2:- Password Protected :- यदि आप चाहते हैं , कि कोई भी अनजान व्यक्ति इसे ना खोल सके , तो आप इसमें password भी लगा सकते है। इससे कोई भी व्यक्ति आपके डॉक्यूमेंट को बिना password के नहीं खोल पाएगा।

बैंक स्टेटमेंट को डाउनलोड करें , तो वह pdf format में डाउनलोड होती है , जिसमें password लगा होता है , जिसे केवल हम ही खोल सकते है। जितने भी सरकारी दस्तावेज होते है , सब pdf file में ही होते है | जैसे आधार कार्ड, पेन कार्ड आदि।

3:- पोर्टेबिलटी :- जैसा कि नाम से ही पता चल रहा है , यह एक पोर्टेबल फॉर्मेट है और यही पीडीऍफ़ को इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा फायदा भी है |

इसका मतलब यह है , कि आप अपने कंप्यूटर, फ़ोन, टेबलेट यहाँ तक की अपने स्मार्ट टीवी में भी पीडीऍफ़ फाइल को खोल सकते है। आज हमे किसी भी डॉक्यूमेंट की हार्ड कॉपी रखने की जरूरत नहीं है , बस फ़ोन में पीडीऍफ़ फाइल होनी चाहिए।

4:- Compression :- पीडीऍफ़ को यूज करने का सबसे बड़ा फायदा यह भी है , कि हम पीडीऍफ़ फाइल की Quality को खराब किए बिना ही कंप्रेस कर सकते है। इससे फाइल को तेज़ी से शेयर कर सकते है।

5:- PDF File Format Can’t Change :- पीडीऍफ़ की सबसे बढ़ी खासियत यह है , कि जब आप कोई डॉक्यूमेंट पीडीऍफ़ फॉर्मेट में बनाते है , तो जिस Text, Font, Design में बनाते है , यह उसी स्टाइल में ही सेव रहेगा, पर ऐसा Ms Word में नहीं है।

मान लो आपने Ms Word 2007 में कोई डॉक्यूमेंट बनाया और फिर उसे किसी को Mail कर दिया। अब जिसने उस mail को रिसीव किया और फिर डॉक्यूमेंट को खोला अगर उसके कंप्यूटर में ms word 2007 नहीं है , तो वह फाइल जो आपने उसे दी थी या तो ओपन नहीं होगी और अगर ओपन हो गयी तो फिर उसका पूरा layout बदल जाएगा। जैसे उसके फॉन्ट, टेक्स्ट साइज आदि।

उसी प्रकार अगर आपने document में हिंदी फॉन्ट का इस्तेमाल किया है और अगर सामने वाले के कंप्यूटर में हिंदी फॉन्ट नहीं हुआ। तो डॉक्यूमेंट फाइल उसको बिलकुल भी समझ नहीं आएगी। लेकिन पीडीऍफ़ के साथ ऐसा नहीं है आपने पीडीऍफ़ में किसी डॉक्यूमेंट को बनाते समय जिस फॉन्ट का स्टाइल या लेआउट का इस्तेमाल किया है , वह उस फाइल में सेव हो जाएगा।

अब उसे दुनिया का कोई भी व्यक्ति किसी भी डिवाइस में खोलें उसके फॉन्ट और layout बिलकुल वैसा ही होगा।

PDF file कैसे बनाया जाता है।

1:- कंप्यूटर के द्वारा pdf file बनाना।

MS word 2007 को छोड़ कर बाकी सभी में फाइल को pdf file मे सेव करने का ऑप्शन दिया होता है। पर यदि आपके पास MS WORD 2007 है , तो Office 2007 में PDF में सेव करने का विकल्प मौजूद नही होता हैं |

Office 2007 में PDF File Format Enable करने के लिए हमें एक छोटे से टूल –  Save As PDFand XPS नाम का Office Addon डाउनलोड करना पडेगा और इस एड ऑन को डाउनलोड करने के बाद Install करना ना भूलें।

2:- मोबाइल के द्वारा pdf file बनाना |

वैसे तो आपको प्ले store में पीडीएफ बनाने वाली बहुत सी ऐप मिल जाएगी पर आज हम आपको pdf creator के बारे में बताने जा रहे हैं |

  1. सबसे पहले इस app को अपने मोबाइल में इंस्टॉल करें।
  2. Open करे Plus (+) आइकन को सेलेक्ट करें।
  3. अब उस फाइल को चुने , जिसे आप पीडीएफ में कन्वर्ट करना चाहते हैं |
  4. फ़ाइल Name option मे जाकर अपने pdf का जो नाम देना चाहते हैं , वो लिखे।
  5. टेक्स्ट एडिटर बॉक्स ओपन होगा , यदि आप और टेक्स्ट एड करना चाहते हैं , तो वह भी कर सकते हैं।
  6. अब आप अपने पीडीएफ फाइल को सेव ऑप्शन में जाकर सेव करें।

इसके बाद आप अपनी बनी हुई पीडीएफ फाइल को शेयर करना चाहते है , तो शेयर का विकल्प चुनें | 


दोस्तो हम उम्मीद करते हैं , कि आपको यह पोस्ट PDF Full Form In Hindi जरूर पसंद आया होगा | यदि आपको यह पोस्ट पसंद आया , तो अपने दोस्तो और रिश्तेदारों के साथ शेयर करना ना भूले |

Leave a Comment