PHP Full Form In Hindi – पीएचपी क्या होता है

PHP Full Form In Hindi :- आज कल लोगो की प्रोग्रामिंग में काफी रूचि बढ़ रही है और इसलिए लोग इसके बारे में जानकारी की खोज करते रहते है | तो आज हम जानते है , कि PHP क्या है, PHP Full Form ,PHP का use और भी बहुत कुछ जो आपको मददरूप होगा , यदि आप भी इसे सीखना चाहते है , तो इस पोस्ट के साथ बने रहे |

PHP Full Form In Hindi 

PHP का फुल फॉर्म है ” Hypertext Preprocessor ” और यह सर्वर साइड स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज है , जो अधिकतर वेब डैवलपमेंट में इस्तेमाल होती है | आपको जान के आश्चर्य होगा , लेकिन फेसबुक, Yahoo , Flipkart जैसी Website Or ऐप्लीकेशन बनाने के लिए PHP का इस्तेमाल हुआ है |

PHP क्या है?

PHP सर्वर साइड प्रोग्रामिंग लैंग्वेज है और इसका कोड हमेशा सर्वर पे होता है | PHP द्वारा डायनामिक वेब पेज Develop किया जाता है और इसलिए यह वेबसाइट बनाने में अधिकतर यूज़ होता है | यह एक ओपन source प्रोग्रम्मिंग लैंग्वेज है , जिसे कोई भी अपने कंप्यूटर में डाउनलोड करके इस्तेमाल कर सकते है |

PHP सीखना इतना मुश्किल नहीं है , खास कर के उन लोगो को लिए जिन्हें HTML और CSS का ज्ञान हो | HTML क्लाइंट साइड काम करता है , जबकि PHP सर्वर साइड और इन दोनों को साथ में एम्बेड करके PHP द्वारा की गयी प्रोसेसिंग ब्राउज़र पर देख सकते है | इसलिए आप HTML का कोड PHP फाइल में लिख सकते है और PHP को HTML में एम्बेड कर सकते है |

आपको PHP के साथ अपने सिस्टम में WAMPSERVER और साथ ही XAMPP साफ्टवेयर भी इनस्टॉल करना होगा | PHP फाइल को .php Extension के साथ सेव किया जाता है | इसका सारा execution सर्वर साइड पे होगा , इसलिए यूजर ये सब देख नहीं सकता |

History of PHP

ऊपर हमने आपको PHP Full Form In Hindi के बारे में बताया , चलिए अब पीएचपी की हिस्ट्री ( History Of PHP In Hindi ) के बारे में बात करते हैं |

PHP का निर्माण 1994 में Rasmus Lerdorf ने किया था , लेकिन ये मार्किट में 1995 में आया था | Rasmus ने ये अपने पर्सनल इस्तेमाल के लिए बनाया था और इसलिए इसे ” Personal Home Page ” भी कहा जाता था | जैसे जैसे लोग इसका इस्तेमाल करने लगे नए फीचर्स और फंक्शन्स इसमें ऐड होने लगे और आज कल PHP 7.3 चल रहा है |



PHP के अनुप्रयोग

  • PHP द्वारा आप dynamic और static दोनों तरह की वेबसाइट बना सकते है |
  • ये सर्वर साइड स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज से वेलिडेशन करना भी बहुत आसान है | आप चाहे तो ये भी validate कर सकते है , की कौन सा यूजर कौन से पेज access कर सकते है |
  • आप HTML फॉर्म डिज़ाइन कर , यूजर से डाटा ले कर PHP द्वारा डेटाबेस में स्टोर करवा सकते है |
  • इस लैंग्वेज द्वारा Data Insert, Update और Delete के साथ काम करना बहुत आसान हो जाता है |
  • आप आसानी से PHP को Database से कनेक्ट कर सकते है और Web Services बना कर Fourm और Data Base के बिच connection बना सकते है |
  • PHP द्वारा आप यूजर को ईमेल सेंड कर सकते है और साथ ही रिसीव भी कर सकते है |
  • कई web page में Confidencial डाटा होता है और इसलिए PHP डाटा को Encrypt और Dcrypt भी कर सकता है |

PHP कैसे काम करता है?

जैसे हमने आपको बताया PHP का इस्तेमाल करने के लिए आपको सर्वर इनस्टॉल करना जरुरी है , क्योंकि इसका सारा कोड सर्वर पे होता है | ये एक ऐसी लैंग्वेज है , जो सभी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे की विंडोज, लिनक्स, मैक, यूनिक्स सभी को सपोर्ट करता है और इसलिए आप किसी पे भी काम कर सकते है | PHP में बहुत से Hash फंक्शन भी है , जिससे आप डाटा Encrypt कर सके और सुरक्षित कर सके |

PHP एक ऐसा सॉफ्टवेयर है , जहाँ आप सभी टास्क perform करके उसका output broswer  में HTML द्वारा देख सकते है | जब कोई यूजर browser द्वारा कोई वेब पेज access करता है , तो वो उस PHP डॉक्यूमेंट के लिए सर्वर को request भेजता है | सर्वर इस Request को find करके PHP प्रोसेसर के पास भेजता है , जहाँ उसे execute करके HTML द्वारा output मिलता है  | PHP प्रोसेसर दो तरह ऑपरेशन पे काम करता है , जो कुछ स प्रकार है :-

  • कॉपी मोड: इस ऑपरेशन द्वारा plain HTML को Output के तौर पे कॉपी कर दिया जाता है |
  • इन्टरप्रेट मोड: इसमें PHP में लिखे कोड को इन्टरप्रेट करके final output दिया जाता है |


PHP के लाभ

PHP Full Form In Hindi जानने के बाद अब पीएचपी के लाभ जानते हैं |

  • PHP एक ओपन सोर्स स्क्रिप्टिंग लैंग्वेज है और इसलिए आप इसे फ्री में डाउनलोड कर इस्तेमाल कर सकते  है |
  • वेब डेवलपमेंट आसान करने के लिए PHP बहुत सारी लाइब्रेरी सपोर्ट करता है और इससे आप customized फंक्शनलिटी यूज़ कर सकते है |
  • PHP की सिंटेक्स काफी आसान है और इसलिए इस लैंग्वेज को सीखना काफी आसान है | यदि आप IT बैकग्राउंड से हो , लेकिन आपको PHP नहीं आता , तो फ़िक्र न करे आप इसे आसानी से सिख सकते है |
  • ये एक Independent लैंग्वेज है , जो सभी ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे विंडोज, लिनक्स, मैक,इत्यादि के साथ कम्पेटिबल है |
  • जैसे-जैसे इसका इस्तेमाल बढ़ रहा है , लोगो की इसमें नए फीचर की डिमांड भी बढ़ रही है | इसलिए टाइम के साथ नए PHP वर्शन रिलीज़ हो रहे है , जो नए फीचर्स के साथ Updated है |
  • PHP , Built-In Database Model को सपोर्ट करता है , इसलिए आप उसके साथ कनेक्ट करके वेब पेज डेवेलोप कर सकते है | यदि आप अपनी वेबसाइट को होस्ट करना चाहते हे , तो PHP एक बेहतरीन ऑप्शन है क्योंकि ये सभी तरह के डेटाबेस जैसे की ओरेकल, MySQL सभी को सपोर्ट करता है |
  • PHP , Apache और IIS दोनों सर्वर को सपोर्ट करता है | अधिकतर होस्टिंग सर्वर भी PHP को सपोर्ट करते है और इस तरह आपको किसी Dedicated सर्वर की जरुरत नहीं पड़ती |
  • PHP में काम करना काफी इंटेरेटसिंग और आसान है | सबसे अच्छी बात ये हे , की PHP में Develop की गयी साइट्स को होस्ट करना सभी के लिए अफोर्डेबल है |

आप भी को वेब एप्लीकेशन बनाना कहते है , तो PHP एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन है | इसकी variables, Syntex अगर आपको आ जाये , तो इसमें काम करना काफी आसान है | आप समय के साथ PHP Langugae में Work करना सिख सकते है| 

आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी ( PHP Full Form In Hindi ) कैसी लगी ? यदि अच्छी लगी हो , तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें , हमारे अन्य आर्टिकल भी पढ़ें उन सब में भी हमने काफी यूज़फुल नॉलेज प्रदान की है |

Leave a Comment