URL Full Form In Hindi – URL क्या होता है ?

URL Full Form In Hindi , URL क्या होता है :- आज कल हम इंटरनेट पे ही अपना ज्यादातर समय व्यतीत करते है । किसी भी वेबसाइट तक पहुंचने के लिए एड्रेस होना आवश्यक है और इस एड्रेस को हम इंटरनेट की लैंग्वेज मैं “URL” कहते है ।

URL Full Form In Hindi 

URL शॉर्ट नाम है , जबकि इसका  फुल फॉर्म ” Uniform Resource Locator ” है । इसे WEB address भी कहा जाता है , क्योंकि ये आपको किसी भी वेबसाइट तक पहुंचने में मदद करता है ।

URL Ke कितने भाग होते हैं?

URL ke तीन भाग होते हैं , जिसकी मदद से एड्रेस बनता है | वो तीन भाग नीचे दर्शय गए हैं:

  • Protocol: यह protocol network दर्शाता है और इसकी मदद से वेबसाइट का नेटवर्क एक्सेस होता है | https://, http://, ftp:// इसके कुछ उदाहरण हैं |
  • Domain Name: ये किसी भी वेबसाइट का पता होता हैं |
  • Domain Code: किस तरह की वेबसाइट है , वो डोमेन कोड द्वारा पता चलता हैं | जैसे की .com,.in ,.org इत्यादि | यहाँ .com का मतलब हैं ये 1 कमर्शियल वेबसाइट है , .in यानी इंडियन वेबसाइट है और वही .org मतलब एक आर्गनाइजेशन की वेबसाइट है | ऐसे और भी डोमेन कोड होते हैं |

URL की History

अब आप सब URL क्या हैं Or URL Full Form In Hindi , ये तो जान हो गए होंगे , तो आईये जानते हैं , ये कब और किस ने ढुंढा था | इस टेक्नोलॉजी के बारे में सब से पहले ” Tim Berners – Lee ” ने 1914 में खोज की थी |

इन्होने ने बताया , कैसे हम किसी भी वेबसाइट के सभी पेज को एक लोकेशन दे सकते हैं और इससे उन्हें इंटरनेट पे ढूंढना भी आसान हो जायेगा |

उस समय इंटरनेट एक छोटी सी दुनिया थी , लेकिन आज ये बहुत विशाल और बड़ा है , जिसके बारे में कोई सोच नहीं सकता |

URL द्वारा इसे मैनेज करना बहुत आसान है और इसकी खोज के बाद बहुत से web page  बनाये गए और सभी को जोड़ कर URL बनाया गया |

URL कितने प्रकार के होते है?

Url Full Form In Hindi 

  • Absolute: जब किसी वेबसाइट के particular पेज पे जाने के लिए उस website का पूरा URL लिखना पड़ता है , उसे Absolute URL कहते हैं | आपको इस तरह के URL में syntax, web page और सभी कुछ लिखना होता हैं |
  • Relative: इस तरह के URL Absolute URL के तुलना में छोटे होते है | इसका अधिकता इस्तेमाल web page के अंदर किया जाता है |
  • Static: ये ऐसे URL है , जिसमें वेबपेज पूरी तरह से जॉइंट हैं और ऐसे URL कभी नहीं बदलते |
  • Dynamic: ये वाले URL का एड्रेस यूजर के queries पे निर्भर होते है और जैसे query बदलती है , ये भी बदलते है |

Read Also:- 


URL को कैसे ब्राउज़र में ओपन करते है?

ज्यादातर URL को हम Browser के सर्च बॉक्स में लिखते है , जिससे वो ओपन हो सके | Hyperlinks द्वारा भी आप किस भी वेबसाइट को ओपन कर सकते है |

यदि किसी वेब पेज पर hyperlink मौजूद हो , तो उसे क्लिक करने पर आप उस वेबसाइट को ओपन कर सकते है |

इंटरनेट दुनिया काफी विकसित हो गयी है और इसलिये URL को QR कोड के द्वारा भी ओपन किया जा सकता है | यदि आपके पास कोई किताब या अख़बार है , जिसमें वेबसाइट का QR code है , तो उसे अपने मोबिएल द्वारा स्कैन करने से भी URL को ओपन किया जा सकता है |

URL कैसे काम करता है?

सबसे इम्पोर्टेन्ट है , कि ये URL कैसे वर्क करता हैं | हम किसी भी URL को आसानी से याद कर सकते हैं , लेकिन हमें इसके पीछे की प्रोसेसिंग के बारे में जानकारी नहीं होती |

हमारे computer में ब्राउज़र होता है , जो किसी भी वेबसाइट को उसको IP एड्रेस द्वारा पहचान सकता है | किसी भी IP एड्रेस को याद करना बहुत मुश्किल है और इसलिए सभी एड्रेस को IP एड्रेस द्वारा लिंक किया जाता हैं |

IP का मतलब Internet Protocol होता है और सभी वेबसाइट का IP अलग होता है | जैसे 192.172.244.2 ये एक IP एड्रेस है , जिसकी मदद से ब्राउज़र वेबसाइट का पता लगा सकता है |

ज्यादातर वेबसाइट के IP static नहीं होते और बदल ते रहते है , लेकिन URL नहीं बदलता जिससे हमे याद रखना आसान होता है | ब्राउज़र एक ऐसा माध्यम है , जो हमने टाइप किये URL को IP में बदल देता है और वेबसाइट तक पहुंच पता है |


Read Also:- 


Shortening URL क्या होता है?

वेबसाइट के URL काफी लम्बे होते है , जिसे याद रखना बहुत मुश्किल होता है | वेबसाइट पे कई सारे web page होते है और सभी पेज का सिंटेक्स याद करना किसी के लिए भी आसान नहीं है |

यदि आपको इस URL को शेयर करना पड़े तो बहुत ही मुश्किल काम है और इसलिए आज बहुत सी कंपनी है , जिसकी मदद से URL शॉर्ट  किया जा सकता है | इस तरह के translators की मदद से कोई भी absolute URL को शॉर्ट  किया जा सकता है , जिससे शेयर करने में आसानी हो |

आज के टाइम में ऐसे बहुत से URL है , जिनको शार्ट नाम से लोग आसानी से पहचान भी सकते है | यह शोर्टनिंग प्रोसेस की मदद से लोग अपनी वेबसाइट के URL क भी शॉर्ट कर सकते है और लोगो के साथ शेयर कर सकते है |

शोर्टनिंग URL कुछ इस प्रकार है , t.co जिसे आप Twitter के नाम से जानते हो | इसी प्रकार शोर्टनिंग सर्विस के द्वारा आप अपने URL की लम्बाई को शॉर्ट कर सकते है |

Secure URL क्या होता है?

जिस भी वेबसाइट का URL https:// से शुरू होते है , वो सिक्योर होते है | गवर्नमेंट भी लोगो को ऐसी वेबसाइट  इस्तेमाल  करने की सलाह देती है , जिससे यदि आपने वेबसाइट में अपनी पर्सनल इनफ्रामेंशन डाली है , तो वो सेफ रहे | इस तरह की वेबसाइट में इनफ्रामेंशन को encrypt  करके Transmit किया जाता है , जिससे आपकी कोई भी Confedential डिटेल्स Leak न हो सके |

Read More About URL , Follow This :- URL


आपको URL के बारे में अब सारी जानकारी मिल गई होगी | URL का किसी भी Website के लिए महत्व और उसका वर्किंग भी अब आपके समझ में आ गया होगा | जो लोग इंटरनेट का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करते , उनके लिए ये बहुत helpful है |

आपको हमारे द्वारा दी गई URL Full Form In Hindi , URL Kya Hai जानकारी कैसी लगी | यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो , तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले | आपको इस जानकारी से संबंधित किसी भी प्रकार का कोई सवाल है , तो हमें कमेंट में जरूर बताएं , हम उसका रिप्लाई जल्दी से जल्दी करेंगे | 

Leave a Comment